Bima Clame_15 June_2020

फसल बीमा का मुआवज़ा न मिलने पर आक्रोशित किसानों का प्रदर्शन

हनुमानगढ़ जिले के नोहर तहसील के किसान बहुत आक्रोशित हैं क्योंकि अधिकतर किसानों को खरीफ-2019 की फसल के नुकसान का बीमा मुआवज़ा नहीं मिला है। नाराज़ किसानों व ग्रामीणों ने 15 जून को लोक राज संगठन के बैनर तले रामगढ़ उप-तहसील पर प्रदर्शन किया और बीमा कंपनी व राज्य सरकार के खि़लाफ़ नारे लगाये। प्रदर्शनकारियों ने नायब तहसीलदार को एस.डी.एम. के नाम ज्ञापन सौंपा और मांग की कि किसानों का बकाया बीमा मुआवज़ा तुरंत दिलाया जाये।

आगे पढ़ें

राजस्थान में किसानों का संघर्ष

आगे पढ़ें

फसल बीमा में किसानों के साथ धोखाधड़ी

12-16 जनवरी के बीच ओड़िशा के बलांगीर जिले के किसान निजी बीमा कंपनियों के कलेक्टर के दफ्तर के सामने धरना प्रदर्शन आयोजित करने जा रहे हैं। ये निजी बीमा कंपनियां प्रधानमंत्री फ़सल बीमा योजना के तहत फ़सल बीमा की स्कीम चला रही हैं और इन्होंने इस इलाके की 50 पंचायतों के किसानों को फ़सल बीमा की राशि से वंचित किया

आगे पढ़ें

वादा-खि़लाफ़ी पर किसानों का गुस्सा उबला

कर्नाटक से पंजाब तक, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में देश के लिये अनाज पैदा करने वाले किसान हुक्मरानों की वादा-खि़लाफ़ी से बहुत गुस्से में हैं। जब भी किसान अपनी फ़सलों के लिए लाभकारी दाम और फ़सल बीमा की मांग को लेकर संघर्ष के मैदान में उतरते हैं, राज्य सरकारें और केंद्र सरकार बड़े-बड़े वादे करती हैं कि किसानों की मांगें पूरी की जाएंगी, लेकिन जब किसान अपना संघर्ष वापस ले लेते हैं और खेतों में लौट जाते हैं, तो सरकारें अपने वादों को भुला देती हैं।

आगे पढ़ें