विश्व व्यापार संगठन का 12वां मंत्री स्तरीय सम्मेलन :
सबसे बड़ी साम्राज्यवादी शक्तियां विश्व व्यापार के नियम निर्धारित करती हैं

विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यू.टी.ओ.) का 12वां मंत्री स्तरीय सम्मेलन 12-17 जून, 2022 को संपन्न हुआ। विश्व व्यापार संगठन का निर्णय लेने वाला सर्वोच्च निकाय मंत्री स्तरीय सम्मेलन है और यह सम्मेलन आमतौर पर हर दो साल में एक बार होता है।

आगे पढ़ें
Electricity

बिजली (संशोधन) विधेयक 2021 के ख़िलाफ़ निरंतर जुझारू विरोध प्रदर्शन

बिजली (संशोधन) विधेयक 2021, जिसे कैबिनेट द्वारा अनुमोदित और संसद के मानसून सत्र में पेश किया जाना था, इसे बिजली क्षेत्र के मज़दूरों, किसानों और अन्य उपभोक्ताओं के भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है। नेशनल कोऑर्डिनेशन कमेटी ऑफ इलेक्ट्रिसिटी एम्प्लाइज़ एंड इंजीनियर्स (एन.सी.सी.ओ.ई.ई.ई.) के बैनर तले देशभर के बिजली कर्मचारियों के एकजुट विरोध और पूरे देश में हड़ताल की धमकी ने कैबिनेट को बिल की मंजूरी को टालने के लिये मजबूर कर दिया है।

आगे पढ़ें
Access_to_Comps_internet_240

डिजिटल शिक्षा :
पूंजीपतियों के लिए एक वरदान और बहुसंख्य बच्चों और युवाओं के लिए एक त्रासदी

कोविड-19 महामारी की वजह से लगे लॉकडाउन ने हमारे देश के लाखों बच्चों और युवाओं के शिक्षा हासिल करने के सपनों और आकांक्षाओं को चकनाचूर कर दिया है।

आगे पढ़ें

कोविड-19 संयुक्त कार्यबल (टास्क फोर्स) की सिफारिशें

25 मई, 2020 को इंडियन पब्लिक हेल्थ एसोसिएशन (आई.पी.एच.ए.), इंडियन एसोसिएशन ऑफ़ प्रिवेंटिव एंड सोशल मेडिसिन (आई.ए.पी.एस.एम.) और इंडियन एसोसिएशन ऑफ़ एपिडेमियोलॉजिस्ट (आई.ए.ई.) के विशेषज्ञों ने कोविड-19 (कोविड महामारी) पर दूसरा संयुक्त बयान जारी किया।

आगे पढ़ें

मुंबई में डॉक्टरों ने नए कोविड-19 टेस्टिंग आदेशों का विरोध किया

मुंबई में डॉक्टरों ने 10 मई को ग्रेटर मुंबई नगर निगम (एम.सी.जी.एम.) द्वारा जारी किए गए नियमों का कड़ा विरोध किया है। इन नियमों के अनुसार उन्हें टेस्ट लेने की सलाह देने से पहले, कोविड-19 लक्षणों के लिए मरीज की शारीरिक जांच करने की आवश्यकता होगी, अन्यथा उनके लाइसेंस रद्द कर दिए जाएंगे। डॉक्टरों को यह कहते हुए एक प्रपत्र भरना होगा कि उन्होंने कोविड-19 टेस्ट की सलाह देने से पहले मरीज की शारीरिक जांच की है। यदि वे ऐसा नहीं कर पाते हैं, तो वे दिशा-निर्देशों के अनुसार उनके ‘एम.सी.आई. (मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया) पंजीकरण‘ रद्द करने सहित कार्रवाई के लिए उत्तरदायी होंगे।

आगे पढ़ें

विश्वव्यापी महामारी के संकट के दौरान अमरीकी साम्राज्यवाद के आक्रामक रवैये का और भी खुलासा

इस समय जब दुनिया के सभी देश कोविड-19 महामारी के संकट की चुनौतियों से जूझ रहे हैं, अमरीकी साम्राज्यवाद लोगों के खि़लाफ़ अपने आक्रमण को बढ़ाने और अपने प्रभुत्व को जमाने के हर मौके का फ़ायदा उठा रहा है।

आगे पढ़ें