गोवा स्टील प्लांट में हड़ताल

गोवा के संगेम तालुका में स्टील प्लांट के मजदूर 5अप्रैल, 2011से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। 250से अधिक मजदूर फैक्ट्री गेटों के सामने इकठ्ठा हुए और प्रबंधन के खिलाफ़ नारे लगाये। हड़ताल पर बैठे मजदूर काम की बेहतर हालातों की मांग कर रहे हैं।

आगे पढ़ें

डाक मजदूरों की हड़ताल की धमकी

अखिल भारतीय डाक कर्मचारी यूनियन ने अपनी मांगों के समर्थन में अनिश्चितकालीन सर्व-हिंद हड़ताल पर जाने की धमकी दी है।

यूनियन नये मजदूरों की नियुक्ती के साथ सभी मजदूरों के लिए पेंशन योजना को अमल करने की मांग कर रही है। यूनियन का कहना है कि मजदूरों की संख्या कम कर दी गयी है लेकिन काम का बोझ हर दिन बढ़ता जा रहा है।

आगे पढ़ें

ए.सी.सी. कांट्रेक्ट मजदूरों का संघर्ष

ए.सी.सी. (होलसिम), जो कि एक बहुराष्ट्रीय सीमेंट कंपनी है, के कांट्रेक्ट मजदूरों ने 3अप्रैल, 2011से अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू की है। वे मांग कर रहे हैं कि कंपनी उच्च न्यायालय के आदेश का पालन करे, जिसके मुताबिक उन्हें नियमित करना है और सीमेंट वेतन बोर्ड के फैसले को अमल में लाना है।

आगे पढ़ें

फिल्म मजदूरों का हड़ताल का ऐलान

आंध्र प्रदेश के हजारों फिल्म मजदूरों ने 8अप्रैल से हड़ताल पर जाने का ऐलान किया है। मजदूर अपने वेतन में बढ़ोतरी की मांग कर रहे हैं लेकिन तेलुगु फिल्म निर्माता उनकी मांग पर चर्चा करने से इंकार कर रहे हैं। ए.पी. फिल्म इंडस्ट्री इंप्लाइज फेडरेशन (ए.पी.एफ.आई.ई.एफ.) के नेताओं ने ऐलान किया है कि जब तक उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जाता 24अलग क्षेत्रों के मजदूर किसी भी शूटिंग पर नहीं जायेंगे।

आगे पढ़ें

वोल्टास मजदूरों का संघर्ष

मुंबई के वोल्टास मजदूर संघर्ष की राह पर हैं। वोल्टास, यह कंपनी टाटा ग्रुप की एक मुनाफे बनाने वाली कंपनी है। वोल्टास के मजदूर अपने वेतन के संशोधन के लिए संघर्ष कर रहे हैं और उन्होंने इस सन्दर्भ में मांग पत्र पेश किया है।

आगे पढ़ें

महाराष्ट्र के रेजिडेंट डॉक्टरों के जायज़ संघर्ष का समर्थन करें!

महाराष्ट्र के सार्वजनिक अस्पतालों के रेजिडेंट डॉक्टर अपनी जायज़ मांगों के लिए संघर्ष कर रहे हैं। 25मार्च, 2011को 4बजे महाराष्ट्र के सभी सार्वजनिक अस्पतालों में काम करने वाले 4000से अधिक डॉक्टरों ने एक-दिवसीय हड़ताल की। ये डॉक्टर महाराष्ट्र असोसियेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर (मार्ड) के झंडे तले संगठित हुए हैं। रेलवे मजदूर, एयर-लाइन मजदूर, मिल मजदूर, म्यूनिसिपल मजदूर, डाक मजदूर, यूनिवर्सिटी शिक्षक,

आगे पढ़ें

व्यवस्था बदलनी चाहिये!

संपादक महोदय,

तमिलनाडु विधान सभा चुनाव पर पार्टी का बयान ‘पार्टी बदलने से नहीं चलेगा, पूरी व्यवस्था बदलनी होगी!’, को मैंने बड़ी रुचि के साथ पढ़ा। यह बयान अपनी बात सीधी और साफ़ तौर से कहता है।

आगे पढ़ें