दिल्ली जल बोर्ड में निजीकरण : सरकार के तथाकथित सुधारों का मतलब सार्वजनिक सेवाओं का निजीकरण

दिल्ली में पानी के निजीकरण पर यहां के निवासियों के साथ-साथ, दिल्ली जल बोर्ड के कर्मचारी भी अपना विरोध जाहिर कर रहे हैं। सरकार ने निजी कंपनियों के मुनाफों की भरपाई के लिए पानी पर हर साल 10 प्रतिशत शुल्क वसूलने की घोषणा की है। मजदूर एकता लहर के संवाददाता दिल्ली जल बोर्ड में कार्यरत यूनियन के कार्यकर्ताओं से पानी के निजीकरण के खिलाफ़, उनके विचारों से आपको अवगत करा रही है :

<

आगे पढ़ें

ग्राज़ियानो ट्रांस्मिसियोनी के मजदूर :

राज्य द्वारा मजदूरों के दमन की निंदा करें!

इंसाफ के लिये संघर्ष जारी रहेगा!

ग्राज़ियानों ट्रांस्मिसियोनी एक बहुराष्ट्रीय कंपनी है जो मोटर गाड़ियों के लिये गियर बनाती है। सारी दुनिया में इसके 35 प्लांट हैं। इस भूतपूर्व इतालवी बहुराष्ट्रीय कंपनी को अब एक अमरीकी बहुराष्ट्रीय कंपनी ने खरीद लिया है। इस कंपनी के मजदूरों द्वारा बनाये गये गिय

आगे पढ़ें

नर्सों का अडिग संघर्ष

चेन्नई के विजया ग्रुप द्वारा संचालित तीन अस्पतालों की लगभग 400 नर्सें बेहतर वेतन की मांग को लेकर हड़ताल पर हैं। नर्सें यह मांग कर रही हैं कि उनका बेसिक वेतन प्रतिमाह 6320 रुपये से बढ़ाकर 15000 रुपये किया जाये, प्रतिवर्ष बेसिक वेतन का 15 प्रतिशत वृध्दि हो और रात्रि का

आगे पढ़ें

रेल चालकों की दिल्ली ब्रांच की गोष्ठी

आल इंडिया लोको पायलट्स एसोसिएशन (ए.आई.एल.आर.एस.ए.) की दिल्ली ब्रांच की गोष्ठी, पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के लोको वर्कशाप में 10 जून, 2012 को संपन्न हुई।

आगे पढ़ें
History of CPSU(B)

सोवियत संघ की कम्युनिस्ट पार्टी (बोल्शेविक) का इतिहास – संक्षिप्त पाठ्यक्रम

  • History of CPSU(B)लेखक: जे वी स्टालिन, सोवियत संघ की कम्युनिस्ट पार्टी (बोल्शेविक) की केंद्रीय समिति के कमीशन द्वारा संपादित
  • तिथि: 1938
  • स्थान: सोविएत संघ
  • लिंक: —
  • (पी डी एफ) : वेब पेज के नीचे देख

सोवियत संघ की कम्युनिस्ट पार्टी (बोल्शेविक) के इतिहास का यह संस्करण पीपुल्स पब्लिशिंग हॉउस, नई दिल्ली द्वारा दिसम्बर 1943 में प्रकाशित किये गए संस्करण का पुनः प्रकाशन है.

आगे पढ़ें

लोक सभा और राज्य सभा पूंजीवादी शासन के मुख्य स्तंभ हैं!

लोक सभा की 60वीं वर्षगांठ के अवसर पर हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी की केन्द्रीय समिति का बयान, 20 मई, 2012

लोक सभा के प्रथम सत्र की 60वीं वर्षगांठ को मनाने के लिये, 13 मई को संसद के दोनों सदनों का एक विशेष सत्र आयोजित किया गया था। कांग्रेस पार्टी और भाजपा, माकपा और भाकपा के नेता, जो आम तौर पर आपस में लड़ते रहते हैं, उन सभी ने हाथ मिलाकर एकमत से एक प्रस्ताव पास किय

आगे पढ़ें

पेट्रोल की कीमत बढ़ाई जाने की निंदा करें! इस बढ़ोतरी को पूरी तरह हटाने के लिये संघर्ष करें!

23 मई, 2012 को संप्रग सरकार ने हमारी जनता पर एक भयानक हमला किया। उसने पेट्रोल की कीमत को 7.50 रु. प्रति लीटर से बढ़ा दिया। यह बीते वर्ष में तीसरी बार पेट्रोल की कीमत में वृध्दि है। यह सबसे बड़ी वृध्दि भी है। इससे पहले सबसे बड़ी वृध्दि 5 रु.

आगे पढ़ें

हिलेरी क्लिंटन की हिन्दोस्तान यात्रा :

इस इलाके में अमरीकी साम्राज्यवादी साज़िश और दखलंदाजी की निंदा करें!

मई के आरंभ में जब अमरीकी विदेश सचिव हिलेरी क्लिंटन ने हिन्दोस्तान की यात्रा की, तो अमरीकी साम्राज्यवादियों ने उस अवसर का फायदा उठाकर, अपने दुष्ट इरादों को पूरे करने के उद्देश्य से, हिन्दोस्तान पर और दबाव डालने और हमारे अंदरूनी मामलों में दखलंदाजी करने व साजिश रचने और इस इलाके के मामलों में हस्तक्षेप करने की कोशिश

आगे पढ़ें

गुजरात जनसंहार : गुनहगारों को सज़ा दिलाने का संघर्ष जारी रहेगा!

28 फरवरी, 2002 की भयानक रात और उसके बाद के दिनों में हुआ हत्याकांड आज भी गुजरात के लोगों और इंसाफ के लिये संघर्ष कर रहे लोगों को तड़पाता है।

आगे पढ़ें

फौजीकरण बड़े पूंजीपतियों के साम्राज्यवादी मंसूबे को दर्शाता है!

अप्रैल 2012 के बीच में, हिन्दोस्तान ने परमाणु अस्त्र वाहक लंबी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल, अग्नि-5 का सफलतापूर्वक परीक्षण किया। अग्नि-5 को एक अन्तर महाद्वीप बैलिस्टिक मिसाइल (आई.सी.बी.एम.) बताया गया है। उसे आंध्र प्रदेश के समुद्र तट से छोड़ा गया और वह 5000 कि.मी.

आगे पढ़ें