गोदी मजदूरों के संघर्ष

22 नवम्बर से हिन्दोस्तान और श्रीलंका के सीफेयरर एण्ड डॉक वर्कस यूनियनों ने फ्लैग्स ऑफ कनवीनियंस‘ (एफ.ओ.सी.) शिपिंग के खिलाफ़ हफ्ते भर की हड़ताल की। हिन्दोस्तान और श्रीलंका के सभी मुख्य बंदरगाहों में कार्यकर्ताओं ने जहाजोंआगे पढ़ें

बराक ओबामा के मुंबई दौरे के विरोध में प्रदर्शन

6 नवम्बर सांय 5.00 बजे विभिन्न संगठनों के सैकड़ों कार्यकर्ता अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के दौरे के विरोध में प्रदर्शन करने चर्चगेट स्टेशन पहुंचे। हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी, लोक राज संगठन, आगे पढ़ें

नयीवेली लिगनाइट कॉरपोरेशन के मजदूरों का संघर्ष

नयीवेली लिगनाइट कॉरपोरेशन तमिलनाडु के लगभग 13 हजार ठेके मजदूरों ने 6 हफ्ते की हड़ताल की। मैनेजमेंट के साथ समझौते के बाद 27 अक्तूबर को यह हड़ताल वापस ली गई। मजदूरों की मांगों में 10 आगे पढ़ें

सरकार नरेगा के मजदूरों की मांग मानने को मजबूर

राजस्थान के नरेगा मजदूरों, जो 2 अक्तूबर से जयपुर के सिटी सर्कल पर धरना दे रहे थे, को आखिर में जीत मिली। राज्य सरकार ने उनकी मांगों को मानते हुये लिखित में समझौता किया है। इन मांगों में यह मांग शामिल है कि महात्मा गांध

आगे पढ़ें

भ्रष्टाचार और घोटाले के कांड : पूंजीपतियों की अमीरी बढ़ाने के लिये जनता की लूट

हाल के हफ्तों में कई उच्च स्तरीय भ्रष्टाचार कांडों ने राजनीतिक व्यवस्था को झकझोर दिया है। इनमें शासक कांग्रेस पार्टी और उसके मित्र दल तथा मुख्य विपक्षी दल, भाजपा, दोनों ही शामिल हैं।
आगे पढ़ें

मानव अधिकारों के संघर्ष का मूल सार श्रमजीवी लोकतंत्र का संघर्ष है

10 दिसंबर, 1948 को संयुक्त राष्ट्र (सं.रा.) महासभा ने मानव अधिकारों को स्वीकृति दी और ऐलाननामा जारी किया। तब से दुनिया भर के मज़दूर व दबे-कुचले लोग हर साल 10 दिसंबर को, मानव होने के नाते, अपने अधिकारों का दावा और इन अधिकारों को अमल में लाने के संघर्ष को जारी रखने की प्रतिज्ञा करके, मनाते हैं।
सोवियत संघ में प्रस्थापित श्रमजीवी अधिनायकत्व का राज्य आधुनिक परिभाषा क

आगे पढ़ें

हिन्द-अमरीकी रणनैतिक गठबंधन एक साम्राज्यवादी गठबंधन है! हिन्दोस्तान व दुनिया के लोगों के हितों तथा शान्ति के खिलाफ़ है!

अमरीकी राष्ट्रपति ओबामा अमरीकी साम्राज्यवादियों और हिन्दोस्तानी शासक वर्ग के बीच गठबंधन को मजबूत करने के लिये, हाल में हिन्दोस्तान आये। यह गठबंधन हिन्दोस्तान के मजदूरों और लोगों के लिये तथा दक्षिण एशिया और

आगे पढ़ें