कॉमरेड एस.के. कुलश्रेष्ठ के निधन पर शोक

कॉमरेड एस.के. कुलश्रेष्ठ का, लगभग एक साल तक जानलेवा बीमारी से जूझने के बाद, 5 नवंबर को निधन हो गया। उनका जन्म 21 अक्तूबर, 1941 को नरहपुर गांव, अलीगढ़, यूपी में हुआ था। स्नातक स्तर की पढ़ाई के बाद, वे 1963 में भारतीय रेल में शामिल हो गए। वे एक स्टेशन मास्टर बन गए और ऑल इंडिया स्टेशन मास्टर्स एसोसिएशन

आगे पढ़ें
26 Novmber TU Mrrting in Delhi


मज़दूरों-किसानों की सांझी मागों को हासिल करने के लिये दिल्ली में अधिवेशन

26 नवंबर को दिल्ली की सीमाओं पर किसानों द्वारा किये गये विरोध प्रदर्शन की तीसरी वर्षगांठ है। इस अवसर पर देश के विभिन्न मज़दूर और किसान संगठन अपनी सांझी मांगों को हासिल करने के लिये देशभर में तीन दिन का महापड़ाव आयोजित करेंगे। इसकी तैयारी के लिये अलग-अलग राज्यों में मज़दूरों और किसानों के संगठनों के राज्य स्तरीय अधिवेशन आयोजित किये जा रहे हैं।

आगे पढ़ें
Lenin_in_Feb_revolution

महान अक्तूबर समाजवादी क्रांति की 106वीं वर्षगांठ पर :
वर्तमान हालतें श्रमजीवी क्रांतियों के नए दौर का आह्वान कर रही हैं

हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी की केंद्रीय समिति का बयान, 5 नवंबर, 2023
अक्तूबर क्रांति द्वारा दिखाया गया रास्ता ही मानव समाज को वर्तमान ख़तरनाक और विनाशकारी रास्ते से मुक्त कराने का एकमात्र तरीक़ा है।

आगे पढ़ें

सिखों के जनसंहार की 39वीं बरसी पर जनसभा :      
न्याय के लिए संघर्ष से सबक

सिखों के भीषण जनसंहार की 39वीं बरसी पर 1 नवंबर को नई दिल्ली में एक सभा आयोजित की गई। सभा में राजनीतिक एवं सामाजिक कार्यकर्ता, छात्र, नौजवान तथा समाज के सभी तबकों के लोग बड़ी संख्या में शामिल हुए।

आगे पढ़ें
Muzaffarnagar_Sea_of_farmers


पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गन्ना किसान अपना बकाया मांग रहे हैं

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हज़ारों गन्ना किसान 18 अक्तूबर से आंदोलन कर रहे हैं। उनकी मांग है कि चीनी मिलें पिछले पेराई के मौसम (2022-23) का लगभग 4,000 करोड़ रुपये का बकाया भुगतान करें। किसान इस बात से नाराज़ हैं कि गन्ने की पेराई का नया मौसम (1 अक्तूबर, 2023 – 30 सितंबर, 2024) शुरू हो चुका है, लेकिन उन्हें अभी तक पिछले वर्ष का पूरा भुगतान नहीं किया गया है।

आगे पढ़ें
mining-in-coal-belt-in-bengal


कोयला मज़दूरों ने निजीकरण का विरोध किया

कोलियरी मज़दूर सभा ऑफ़ इंडिया (सी.एम.एस.आई.) ने हाल ही में पश्चिम बंगाल के आसनसोल में निजीकरण विरोधी सम्मेलन आयोजित किया। सम्मेलन में कोयला खनन उद्योग के विभिन्न कार्यों का निजीकरण करने की केंद्र सरकार की कोशिशों पर ध्यान आकर्षित किया गया। इस मीटिंग में इस बात का पर्दाफ़ाश किया गया कि निजी कंपनियों को मुनाफ़ा दिलाने के लिये कैसे सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों को बर्बाद किया जा रहा है। केंद्र सरकार पहले ही सार्वजनिक क्षेत्र की कोल इंडिया लिमिटेड (सी.आई.एल.) के 37 फीसदी शेयर बेच चुकी है।

आगे पढ़ें
UNGA_Voting_Resolution_Gaza


संयुक्त राष्ट्र संघ में गाज़ा में युद्धविराम के पक्ष में भारी मतदान

27 अक्तूबर को, संयुक्त राष्ट्र संघ की आम सभा ने गाज़ा में मानवीय आधार पर तत्काल युद्धविराम लागू करने के आह्वान के प्रस्ताव के पक्ष में भारी मतदान किया। संयुक्त राष्ट्र संघ के 120 देशों ने प्रस्ताव के पक्ष में वोट किया, जबकि 14 ने इसके विरोध में वोट किया। 45 देशों ने मतदान में एब्स्टेन (न हां, न ना) किया।

आगे पढ़ें


इज़रायल और फ़िलिस्तीनी लोगों के विषय पर मीटिंग

हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी के सदस्यों और समर्थकों ने फ़िलिस्तीनी लोगों और इज़रायली राज्य के बीच के विवाद की राजनीति पर चर्चा करने के लिए 22 अक्तूबर को दिल्ली में एक मीटिंग का आयोजन किया।

आगे पढ़ें
Asha-Workers-Strike-Ends


लंबे संघर्ष के बाद आशा कार्यकर्ताओं को वेतन में बढ़ोतरी मिली

हरियाणा में आशा कार्यकर्ताओं को दो महीने से अधिक के लगातार संघर्ष के बाद उनके मासिक वेतन में 2,100 रुपये की वृद्धि की घोषणा से कुछ राहत मिली।

आगे पढ़ें

1984 में सिखों के जनसंहार की 39वीं बरसी :
जनसंहार से सबक


हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी की केन्द्रीय समिति का बयान, 25 अक्तूबर, 2023
हमें राजनीतिक व्यवस्था को बदलने के उद्देश्य से सांप्रदायिकता और सांप्रदायिक हिंसा के ख़िलाफ़ संघर्ष को तेज़ करना होगा, ताकि सरमायदार वर्ग की हुकूमत की जगह पर मज़दूरों, किसानों और सभी मेहनतकशों की हुकूमत स्थापित की जा सके। सिर्फ ऐसा करके ही यह सुनिश्चित किया जा सकता है कि जीवन का अधिकार, ज़मीर का अधिकार और अन्य सभी मानव अधिकारों व लोकतांत्रिक अधिकारों का हनन नहीं होगा और किसी के साथ उसकी आस्था के आधार पर भेदभाव नहीं किया जायेगा।

आगे पढ़ें