”आतंकवाद से मुक्ति” विषय पर कार्यक्रम

4 जनवरी, 2009 को दक्षिण दिल्ली में स्थित संजय कालोनी में हिन्द नौजवान एकता सभा की ओर से ''नूतन वर्ष में आतंकवाद से मुक्ति'' शीर्षक पर, नौजवानों में प्रतियोगितायें आयोजित की गयीं। अंत में इसी विषय पर एक जन सभा भी की गई।

4 जनवरी, 2009 को दक्षिण दिल्ली में स्थित संजय कालोनी में हिन्द नौजवान एकता सभा की ओर से ''नूतन वर्ष में आतंकवाद से मुक्ति'' शीर्षक पर, नौजवानों में प्रतियोगितायें आयोजित की गयीं। अंत में इसी विषय पर एक जन सभा भी की गई।

भारी सर्दी के बावजूद, संगठन के नौजवान कार्यकर्ताओं ने दिन भर, बड़ी सक्रियता और उत्साह के साथ निबंध लेखन, चित्रकला, नृत्य और गायन प्रतियोगिताओं को संपन्न किया। कालोनी के बच्चों व युवक-युवतियों ने बड़े उत्साह के साथ प्रतियोगिताओं में भाग लिया और अपनी-अपनी प्रतिभाओं को दर्शाया। यह कार्यक्रम सुबह 11 बजे से शाम 3 बजे तक चला।

शाम की जनसभा में पुरस्कार वितरण किया गया। इस अवसर पर लोक राज संगठन, हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी तथा दिल्ली लेदर कारीगर संगठन के प्रतिनिधि उपस्थित थे, संजय कालोनी लोक राज समिति के कार्यकर्ता भी इसमें सक्रिय थे। इसके अलावा, सैकड़ों निवासियों और तुगलकाबाद विधान सभा क्षेत्र से निर्दलीय उम्मीदवार श्री नरेष जैन ने भी भाग लिया।

इस गोष्ठी की शुरुआत दो नौजवान लड़कियों ने प्रगतिशील गीत – 'देखो रंग बदल रहा है आसमान का' गाकर की।

हिन्द नौजवान एकता सभा के संस्थापक सदस्य संतोष कुमार ने कहा कि समाज को बदलने में युवा एक बड़ी ताकत है और उनको अपनी भूमिका को निभाना चाहिए। ऐसे समाज की रचना करने के लिये उनको संघर्ष करना होगा, जहां सभी के अधिकारों को सुनिश्चित किया जा सके और शोषण मुक्त समाज की स्थापना की जा सके।

तुगलकाबाद विधान सभा क्षेत्र से हाल में चुनावों में खड़े हुये उम्मीदवार बिरजू नायक ने तुगलकाबाद विधान सभा के समस्त मजदूरों-मेहनतकशों को नव वर्ष की शुभकामना देते हुये कहा कि राज्य सत्ता तथा फैसले लेने के अधिकार को जनता के हाथ में लाना होगा। इसके लिए हमें जगह-जगह पर लोक राज समितियों की स्थापना करनी होगी और उन्हें मजबूत करना होगा। दूसरा, उन्होंने कार्यक्रम के शीर्षक पर बात रखते हुए यह सवाल उठाया कि – ''जो राज्य हमें भूखा मार सकता है, जो राज्य हमें पानी से वंचित रख सकता है, जो राज्य हमारेप्रदर्शनों पर बेरहमी से गोली चला सकता है, तो क्या वह अपने फायदे के लिये आतंक नहीं फैला सकता?''

दिल्ली लेदर करीगर संगठन के अतीक ने हिन्द नौजवान एकता सभा द्वारा मजदूरों की बस्ती में इस तरह के कार्यक्रम के आयोजन की सराहना की और कहा कि आतंकवाद की जननी के पूंजीपतियों की राज्य व्यवस्था है। उन्होंने मजदूर वर्ग से इसे बदलने का आह्वान किया।

हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी की दिल्ली इलाका कमेटी की ओर से सुचरिता ने कहा कि मजदूर वर्ग के बच्चों को इस तरह के मौकों का भरपूर प्रयोग करना चाहिए। आज देश में मजदूरों का बेरहम शोषण होता है और इस शोषण की व्यवस्था को मजदूरों-किसानों के राज को स्थापित करके ही खत्म कर सकते है। जब तक इस देश की बागडोर पूंजीपतियों के पास रहेगी, तब तक इस देश से गरीबी, भुखमरी, आतंकवाद आदि को मिटाया नहीं जा सकता।

नरेश जैन ने भी कार्यक्रम की सराहना की। आमंत्रित संगठनों के प्रतिनिधियों ने सभी प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कार देकर नौजवानों का हौसला बढ़ाया।

कार्यक्रम पूरे जोशपूर्ण वातावरण में 'इंकलाब जिंदाबाद!' के नारे के साथ संपन्न हुआ।

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.