फ्रांस में गोदी मजदूरों की हड़ताल

फ्रांस के तटवर्ती शहर मार्से में गोदी मजदूर आमदनी की कटौती के विरोध में एक महीने से हड़ताल पर थे। प्रदर्शनकारियों ने समुद्री यातायात रोकने के लिये बंदरगाह के प्रवेश द्वार पर लाईफ बोट और रस्से व जालियां टांग रखी थी। हाल में उन पर पुलिस की बड़ी फौज़ ने बेरहमी से उन पर हमला किया। 10 मार्च, 2011 को हड़ताल को खत्म करने के लिये कम से कम 700 पुलिस अफसर तैनात किये गये। प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिये प

फ्रांस के तटवर्ती शहर मार्से में गोदी मजदूर आमदनी की कटौती के विरोध में एक महीने से हड़ताल पर थे। प्रदर्शनकारियों ने समुद्री यातायात रोकने के लिये बंदरगाह के प्रवेश द्वार पर लाईफ बोट और रस्से व जालियां टांग रखी थी। हाल में उन पर पुलिस की बड़ी फौज़ ने बेरहमी से उन पर हमला किया। 10 मार्च, 2011 को हड़ताल को खत्म करने के लिये कम से कम 700 पुलिस अफसर तैनात किये गये। प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिये पुलिस कालिस्ट नामक जहाज पर सवार हो गई।

गर्मी के मौसम में नीस से कौरसिका की समुद्री यात्रा को घटाने की निजी जहाज कंपनियों की योजना के खिलाफ़, बंदरगाह को बंद करने वाले 14 हड़ताली मजदूरों को गिरफ्तार कर लिया गया। परन्तु मजदूरों ने अपने पानी के पाईप से पुलिस अफसरों पर बौछार करके इसका मुंहतोड़ जवाब दिया।

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.