नाटो शिखर सम्मेलन के ख़िलाफ़ बड़े पैमाने पर विरोध

28-30 जून के बीच मैड्रिड, स्पेन में आयोजित नाटो शिखर सम्मेलन के ख़िलाफ़, विरोध प्रदर्शनों में हजारों लोगों ने भाग लिया। उन पर लगे प्रतिबंध की अवहेलना करते हुए ये विरोध प्रदर्शन आयोजित किये गये। युद्ध की तैयारियों के ख़िलाफ़, लोगों के कड़े विरोध और निंदा से, नाटो नेताओं को बचाने के लिए, 10,000 से अधिक पुलिसकर्मियों को लामबंद किया गया और मैड्रिड को एक सशस्त्र शिविर में बदल दिया गया।

Madrid_protest_against_NATOनाटो सामरिक अवधारणा 2022 शिखर सम्मेलन के ख़िलाफ़, जंग-भड़काने और युद्ध की तैयारियों की निंदा करने और नाटो को भंग करने की मांग के समर्थन में, कनाडा के कई शहरों में, प्रदर्शन-रैलियों, विरोध-बैठकों और ऑनलाइन वर्चुअल बैठकों का आयोजन किया गया।

यूरोप और उत्तरी अमरीका में आम लोग और भी अधिक यह महसूस कर रहे हैं और इस निष्कर्ष पर पहुंच रहे हंै कि अमरीका के नेतृत्व वाला नाटो गठबंधन, विश्व शांति के लिए सबसे बड़ा ख़तरा है। नाटो के नेतृत्व में, सैन्य हस्तक्षेप ने, दुनिया के दर्जनों देशों को तबाह कर दिया है। नाटो दुनिया में युद्ध का मुख्य कारण है। यह गठबंधन, दुनिया के स्तर पर हथियारों को बनाने की होड़ को बढ़ावा देता है और यह सैन्य-गठबंधन, वैश्विक-सैन्य खर्च के आधे से अधिक और वैश्विक-हथियारों के व्यापार के दो-तिहाई हिस्से के लिए ज़िम्मेदार है। जब तक नाटो मौजूद है, तब तक लोगों और देशों के एक नए युद्ध में फंसने का ख़तरा बहुत ही स्वाभाविक और संभव है। दुनिया के लोगो की, इस आक्रामक सैन्य गठबंधन को खत्म करने की मांग बिल्कुल जायज़ है।

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.