पार्टी दस्तावेज

  • किसान आन्दोलन के सामने कुछ सवाल

    प्रथम प्रकाशन अक्तूबर 2021

    हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी के महासचिव, लाल सिंह का मज़दूर एकता लहर के साथ साक्षात्कार

    पी.डी.एफ. डाउनलोड करनें के लिये चित्र पर क्लिक करें

  • भारतीय रेल का निजीकरण हमें मंजूर नहीं

    रेल_निजीकरण_पुस्तिकाप्रथम प्रकाशन अक्तूबर 2021

    हिन्दोस्तान के रेल मज़दूर दृढ़तापूर्वक भारतीय रेल के निजीकरण के ख़िलाफ़ संघर्ष कर रहे हैं। निजीकरण के ख़िलाफ़ इस संघर्ष में रेलवे की सभी फैडरेशन और यूनियन एक झंडे तले इकट्ठे हुए हैं – नेशनल कोओर्डिनेशन कमेटी ऑफ़ रेलवेमेन्स स्ट्रगल।

    पी.डी.एफ. डाउनलोड करनें के लिये चित्र पर क्लिक करें

  • यह धर्म-युद्ध है मज़दूरों और किसानों का, अधर्मी राज्य के ख़िलाफ़!

     Dharm-yudh-Statemant-Hindiप्रथम प्रकाशन जनवरी 2021

    हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी की केन्द्रीय समिति का बयान, 10 जनवरी, 2021

    हम मेहनतकश बहुसंख्या आज एक धर्म-युद्ध लड़ रहे हैं। यह संघर्ष है इस वर्तमान अधर्मी गणराज्य के खि़लाफ, जिसमें सिर्फ कुछ मुट्ठीभर लोगों की खुशहाली ही सुनिश्चित की जाती है। यह एक ऐसे गणराज्य की स्थापना करने के लिए संघर्ष है, जिसमें समाज के सभी सदस्यों की खुशहाली और सुरक्षा सुनिश्चित करने के धर्म का पालन किया जाये

    इस बयान का पी.डी.एफ. डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें

  • ग़दरियों की पुकार – इंक़लाब

    संशोधित संस्करण, फरवरी 2018

    उत्तरी अमरीका में निवासी हिन्दोस्तानी आप्रवासियों द्वारा गठित हिन्दोस्तान ग़दर पार्टी ने 1915-16 में, एक क्रांतिकारी विद्रोह आयोजित किया था, जिसने बर्तानवी साम्राज्य को झकझोर दिया था। हिन्दोस्तान ग़दर पार्टी से हिन्दोस्तानी क्रांतिकारियों की कई पीढ़ियां प्रेरित हुई हैं। 1920 के दशक में तथा उसके बाद आने वाले दशकों में शहीद भगत सिंह व अन्य क्रांतिकारी भी उसी से प्रेरित हुए थे। 1960 और 1970 के दशकों में, उसी से कम्युनिस्टों को हिन्दोस्तानी आप्रवासियों को हिन्दोस्तानी क्रांति के समर्थन में और नस्लवादी हमलों के खिलाफ़ संगठित करने की प्रेरणा मिली। हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी और वे सभी जो हिन्दोस्तानी समाज को हर प्रकार के शोषण और गुलामी से मुक्त कराने के लिए संघर्ष कर रहे हैं,आज भी हिन्दोस्तान ग़दर पार्टी से प्रेरणा और मार्गदर्शन लेते हैं।

    पी.डी.एफ. डाउनलोड करनें के लिये चित्र पर क्लिक करें

  • हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी के पांचवें महाअधिवेशन में पेश की गयी रिपोर्ट

    The Report to the Fifth Congress of the Communist Ghadar Party of Indiaप्रथम प्रकाशन अक्तूबर, 2017

    हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी के महासचिव कामरेड लाल सिंह द्वारा, पार्टी की केन्द्रीय समिति की ओर से, हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी के पांचवें महाअधिवेशन को यह रिपोर्ट पेश की गई। महाअधिवेशन में इस पर चर्चा की गयी और इसे अपनाया गया। पांचवें महाअधिवेशन के फैसले के अनुसार, इस रिपोर्ट को सम्पादकीय शोधन के साथ, प्रकाशित किया जा रहा है। इस प्रकाशन में महाअधिवेशन की कार्यवाहियों का संक्षिप्त विवरण और महासचिव की प्रारंभिक टिप्पणियों के कुछ अंश भी शामिल हैं, जिन्हें केन्द्रीय समिति ने प्रकाशन के लिए अनुमोदित किया है।

    पी.डी.एफ. डाउनलोड करनें के लिये चित्र पर क्लिक करें

  • नोटबंदी के असली इरादे और झूठे दावे

    Hindi Note Ban(प्रथम प्रकाशन जनवरी 2017)

    इस पुस्तिका के प्रथम भाग में नोटबंदी के असली इरादों को समझाने तथा उनका पर्दाफाश करने के लिये, तथ्यों और गतिविधियों का विश्लेषण किया गया है। दूसरे भाग में सरकार के दावों – कि नोटबंदी से अमीर-गरीब की असमानता, भ्रष्टाचार और आतंकवाद खत्म होगा – का आलोचनात्मक मूल्यांकन किया गया है। तीसरे भाग में यह बताया गया है कि कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी के अनुसार, इन समस्याओं का असली समाधान क्या है तथा उस समाधान को हासिल करने के लिये फौरी कार्यक्रम क्या होना चाहिये।

    पी.डी.एफ. डाउनलोड करनें के लिये चित्र पर क्लिक करें

  • किस प्रकार की पार्टी?

    प्रथम संस्करण फ़रवरी 1994, दूसरा संस्करण दिसंबर 2016

    इस दस्तावेज़ “किस प्रकार की पार्टी” को, कामरेड लाल सिंह ने हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी की केन्द्रीय कमेटी की ओर से 29-30 दिसम्बर, 1993 में हुई दूसरी राष्ट्रीय सलाहकार गोष्ठी में पेश किया था।

    पी.डी.एफ. डाउनलोड करनें के लिये चित्र पर क्लिक करें

  • हिन्दोस्तान किस दिशा में?

    पहला संस्करण मार्च 1996, पुनः अनुवादित संस्करण नवंबर 2016

    यह दस्तावेज़, हिन्दोस्तान किस दिषा में? हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी के महासचिव लाल सिंह द्वारा पार्टी की केन्द्रीय समिति की ओर से 23.24 दिसम्बर 1995 को नई दिल्ली में हुए पार्टी के तीसरे सलाहकार सम्मेलन में पेष की गयी रिपोर्ट है। इसका पहला संस्करण तीसरे सलाहकार सम्मेलन के फैसले के तहत चर्चा के लिये मार्च 1996 में जारी किया गया था। बाद में केन्द्रीय समिति ने उसे स्वीकार किया और अक्टूबर 1998 में हुए द्वितीय महाअधिवेशन ने, आम कार्यदिशा प्रस्थापित करने के काम में इसे एक महत्वपूर्ण मीलपत्थर माना है। दूसरा पुनः अनुवादित संस्करण प्रकाशित किया जा रहा है।

    पी.डी.एफ. डाउनलोड करनें के लिये चित्र पर क्लिक करें

  • यह चुनाव एक फरेब है!

    यह चुनाव एक फरेब है!प्रथम प्रकाशन जनवरी 2015

    हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी के महासचिव, कामरेड लाल सिंह का मजदूर एकता लहर के संपादक, कामरेड चन्द्रभान के साथ साक्षात्कार

    पी डी एफ डाउनलोड करने के लिए कवर चित्र पर क्लिक करें

  • भ्रष्टाचार, पूंजीवाद और हिन्दोस्तानी राज्य

    प्रथम प्रकाशन मार्च 2014

    हिन्दोस्तान की कम्युनिस्ट ग़दर पार्टी के महासचिव, कामरेड लाल सिंह का, मजदूर एकता लहर के संपादक, कामरेड चन्द्रभान के साथ साक्षात्कार

    पी डी एफ दस्तावेज को डाउनलोड करने के लिए कवर चित्र पर क्लिक करें

close

Share and Enjoy !

Shares