बिजली-आपूर्ति का संकट और उसका असली कारण

हिन्दोस्तान में बिजली को लेकर वर्ग संघर्ष पर लेखों की श्रृंखला में यह दूसरा लेख है
देश के बहुत से स्थानों में बिजली की कमी की गंभीर समस्या है क्योंकि थर्मल पॉवर प्लांटों (ताप बिजलीघरों) के पास आवश्यक बिजली-उत्पादन के लिए पर्याप्त कोयला नहीं है। इजारेदार-नियंत्रित मीडिया इस बात को लेकर भ्रम पैदा कर रही है कि बिजली की कमी के लिए कौन और क्या ज़िम्मेदार है।

आगे पढ़ें

लोगों के अधिकार और राज्य के फर्ज़

कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सरकार द्वारा घोषित 21 दिन के लॉक डाउन के लगभग दस दिन पूरे हो चुके हैं। लॉक डाउन के पहले हफ्ते के अनुभव से कई समस्याएं सामने आयी हैं जिन्हें फौरी तौर पर हल करना होगा। यह एक सांझा संघर्ष है जिसमें सभी लोगों की भागीदारी की ज़रूरत है। इसमें सरकार के असरदार नेतृत्व की ज़रूरत है।

आगे पढ़ें