कोयला क्षेत्र के निजीकरण के बारे में झूठे प्रचार के ख़िलाफ़

जब देशभर के कोयला मज़दूर 41 कोयला खदानों को निजी कंपनियों द्वारा कोयले के व्यावसायिक खनन के लिए नीलामी किये जाने के ख़िलाफ़ हड़ताल और अन्य तरह से विरोध प्रदर्शन आयोजित कर रहे हैं, सरकार के प्रवक्ता इस कदम को जायज़ ठहराने के लिए इस तरह के तथाकथित तर्क पेश कर रहे हैं।

आगे पढ़ें

कोयला क्षेत्र को वाणिज्यिक खनन के लिए खोले जाने का विरोध

18 जून को केंद्र सरकार ने कोयला खदानों को वाणिज्यिक खनन के लिए नीलाम करने की घोषणा की। छत्तीसगढ़, झारखंड और देश की कोयला पट्टी के अन्य राज्यों में केंद्र सरकार को इस घोषणा के लिये जबरदस्त विरोध का सामना करना पड़ रहा है। कोयला क्षेत्र को निजी वाणिज्यिक खनन के लिए खोलने के केंद्र के फैसले के खि़लाफ़, लोगों

आगे पढ़ें
All India worker convention

मज़दूरों का सर्व हिन्द सम्मेलन : हुक्मरान पूंजीपति वर्ग की जन-विरोधी और राष्ट्र-विरोधी नीतियों के खि़लाफ़ संघर्ष तेज़ करने का फैसला

28 सितम्बर, 2018 को ट्रेड यूनियनों, अन्य मज़दूर संगठनों और फेडरेशनों की अगुवाई में, नई दिल्ली के मावलंकर हाल में मज़दूरों का सर्व हिन्द सम्मेलन हुआ। सम्मेलन में अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों – रक्षा, बैंक, बीमा, रेलवे, सड़क परिवहन, जल परिवहन, पोर्ट एंड डॉक, तेल, ऊर्जा, टेलीकाम, खनन, स्टील, कोयला, जल परिवहन, बंदरगाह, भारी इंजीनियरिंग आदि – से जुड़ी ट्रेड

आगे पढ़ें