खदान मज़दूरों की ऐतिहासिक भूमिका

हमारे देश के कोयला खदान मज़दूर निजीकरण के ख़िलाफ़ जबरदस्त संघर्ष चला रहे हैं। उन्होंने 18 अगस्त को देश-व्यापी हड़ताल का ऐलान किया है। इस संदर्भ में सभी देशों में खदान मज़दूरों द्वारा आधुनिक उद्योग के विकास और अंतराष्ट्रीय मज़दूर वर्ग आंदोलन के विकास में अदा की गयी भूमिका को याद करना बेहद जरूरी है। 19वीं और 20वीं शताब्दी में

आगे पढ़ें